Poem – Vote Humko Do

  • Alok 
alok verma

आज आपके बीच नेता बनने आए है

हम भी अपने साथ सभ्यता ख़ूब लाए है

हमने भी ली है कुछ भरस्टाचार की कक्षाए

हमने भी मारी है जनमानस की इच्छाए

हमने भी षड्यंत्र रचे है, ख़ून कराया है

हमने भी दंगे भड़का, आतंक मचाया है

लाज, शर्म और मर्यादा को फूँक आए है

हम भी अपने साथ सभ्यता ख़ूब लाए है

एक वचन देते है की सरकार ख़ूब चलेगी

पाँच साल तक टिक जाएँगे कुर्सी नहीं हिलेगी

System को तो पूरा नंगा नाच नाच देंगे

जिस जगह बोलो, मंदिर-मस्जिद बनवा देंगे

वादा है विपक्ष से कोई आवाज़ नहीं करेगा

अगर किसी ने बोला तो कोई विश्वास नहीं करेगा

इसीलिए यह नारा है, Support हमको दो

हाथ जोड़कर कहते है, कि Vote हमको दो

Leave a Reply

Your email address will not be published.